Girl posts Nude video of brother-in-law for not fullfilling demands

Nav Bharat Times, Lucknow. Date:

Nav Bharat Times, Lucknow. Date: 15.08.2014

अगर यही काम किसी लड़के ने किया होता तो पूरी महिला प्रजाति का अपमान होने के जुर्म में उसे बहुत सी कानूनी धाराओं में जेल भेज दिया गया होता । पर आरोपी लड़की है तो कानून उसके संरक्षण में उतरना लाजमी है । फिर यह बराबरी के हक का ढ़ोंग क्यों ? जब बराबरी की सजा नहीं भुगतने के लिये तैयार हो तो बराबरी का अंतर्नाद करना कितना सही है ? और इण्डिया गेट पर मोमबत्ती छाप ’वी वान्ट जस्टिस’ का गगन भेदी नाद सिर्फ महिलाओं के लिये ही प्रायोजित किया जाता है । पुरूष तो पैदा ही होता है अत्याचार करने के लिये और घुट – घुट कर कानूनों की बली चढ़ाने के लिये । उसके लिए न्याय मांगने का कार्यक्रम कौन प्रायोजित करेगा ?

Advertisements

One comment

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s